दोपहर में झपकी लेना कितना है सही?

दोपहर में झपकी लेना कितना है सही?

बचपन में दोपहर की झपकी लेना दिनचर्या में शामिल होता है। लेकिन बड़े होने पर अकसर दोपहर की नींद नहीं मिल पाती। कई शोध हैं, जिनके अनुसार दोपहर में ली गई छोटी सी झपकी तन व मन दोनों को रिचार्ज कर देती है।

Loading...

झपकी यानी नैप, अमूमन दोपहर में 15 से 90 मिनट के समय के लिए ली जाने वाली नींद को कहते हैं। साकेत स्थित मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में स्लीप मेडिसिन की डाइरेक्टर मनवीर भाटिया कहती हैं, ‘दोपहर में ली गई एक छोटी सी झपकी, रात में ढंग से नींद नहीं आने वाले नुकसान को कम कर देती है। जर्नल ऑफ क्लीनिकल एंड्रोक्राइनोलॉजी एंड मेटाबॉलिज्म में छपी रिपोर्ट के अनुसार एक छोटी झपकी पिछली रात केवल दो घंटे सो पाने वालों के इम्यून सिस्टम में आयी गड़बड़ी और बढ़े हुए तनाव को कम करने में मदद करती है।

Loading...

दोपहर में झपकी लेना कितना है सही?

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap