तम्बाकू का नशा – छोड़ें – छुडायें…

तम्बाकू का नशा, छोड़ें, छुडायें....

Loading...

आवश्यक है उपचार व्यवस्था की सर्वत्र उपलब्धता..!! क्योंकि सबसे बड़ी चुनौती प्रदेश में ~60% से 70% तम्बाकू उपभोगी इसे अगले साल तक छोड़ना नहीं चाहते हैं, अतः यह आवश्यक है कि उन्हें व उनके मित्रों-परिवारों को इसे छोड़ने के लाभों की जानकारी लगातार मिलती रहे ताकि ना केवल उनका इस हेतु रुझान और विश्वास बढ़े, एक सामाजिक धारणा भी स्थापित हो सके कि तम्बाकू खाना-पीना एक रोग हैं और हर तम्बाकू उपभोगी एक रोगी है. फिर सर्वत्र तम्बाकू-उपचार व्यवस्था  की मांग भी उठेगी और तम्बाकू उपभोगीयों को भी उनके परिवारजन, मित्र, इत्यादि, अपने बदले दृष्टिकोण से सहानुभूति और सतर्कता से उन्हें समय से उपचार हेतु प्रेरित कर अस्पताल भी ले भी आयेंगे.

Loading...

तम्बाकू उपभोगियों के लिए सुनिश्चित किये गए दिन-दिनांक पर दृढ़ता इसे छोड़ पाना सफलता का पहला और निर्णायक कदम होता है. तम्बाकू-मुक्त जीवन हेतु यह निर्णय भी आवश्यक होता है कि “ना खरीदेंगे, ना किसी से खरीद्वायेंगे और किसी अन्य से मांगेंगे भी नहीं”. इसे याद दिलाने वाले स्टीकर-पोस्टर घर, ऑफिस और कार, इत्यादि में लगाना उपयोगी होता है. तम्बाकू का नशा, छोड़ें, छुडायें....

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap