शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ाने के प्राकृतिक नुस्खे

शरीर का स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए हर व्यक्ति के एस्ट्रोजन के स्तर का सही होना काफी आवश्यक है। इसका कम या ज़्यादा होना बिलकुल भी सही नहीं होता। शरीर में एस्ट्रोजन के सही प्रकार से ना बंटने के फलस्वरूप शरीर के कई अंगों की कार्यशीलता में अवरोध उत्पन्न हो जाता है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि महिलाएं पुरुषों की तुलना में शारीरिक तौर पर कमज़ोर होती हैं। यहाँ तक कि उनके शरीर में एक निश्चित समय पर एस्ट्रोजन का स्तर भी काफी घट जाता है। जब एक महिला गर्भवती होती है, तब उसके शरीर में हॉर्मोन (hormone) से जुड़े कुछ परिवर्तन होते हैं। इससे भी एस्ट्रोजन के स्तर में गड़बड़ी उत्पन्न होती है। रजोनिवृत्ति (Menopause) एक महिला के शरीर में होने वाला ऐसा परिवर्तन है, जिसके बाद उसके मासिक धर्म (periods) होना बंद हो जाते हैं। यहाँ पर महिला कुछ मानसिक परिवर्तनों से गुज़रती है, अतः उसके एस्ट्रोजन के स्तर का बढ़ना काफी आवश्यक है। पुरुषों में भी कई बार एस्ट्रोजन का स्तर घटता हुआ देखा जाता है।

Loading...

एस्ट्रोजन काफी महत्वपूर्ण प्राकृतिक हॉर्मोन है जो कि पुरूषों एवं महिलाओं दोनों के लिए काफी आवश्यक है। किसी मनुष्य के लिए शरीर में स्वास्थ्यवर्धक मात्रा में एस्ट्रोजन का होना भी काफी ज़रूरी है। पुरूषों के मुकाबले महिलाओं को एस्ट्रोजन की आवश्यकता ज़्यादा होती है। उन्हें इस प्राकृतिक हॉर्मोन की आवश्यकता अपने शरीर के कुछ आतंरिक कार्यों के लिए होती है। एस्ट्रोजन स्किन क्रीम यह हॉर्मोन काफी आवश्यक होता है जब वे गर्भावस्था की स्थिति से गुज़र रही होती हैं। शोध के अनुसार ये पाया गया है कि महिलाओं के मासिक धर्म बंद होने की स्थिति में उनके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा कम हो जाती है। नीचे मनुष्य के शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ाने के कुछ उपाय बताए गए हैं :-

एस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ाने के लिए किये जाने वाले उपाय (General practice to increase estrogen level)

एस्ट्रोजन के गुण – डॉक्टर से सुझाव लेना (Doctor’s consultation)

लोग आमतौर पर अपने शरीर में होने वाली कुछ समस्याओं का हल जानने के लिए डॉक्टरों की मदद लेते हैं। इसी तरह अगर आपको लगता है कि आपके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा कम हो रही है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा ना ज़्यादा कम होनी चाहिए न काफी ज़्यादा । एस्ट्रोजन के गुण (estrogen ke gun) अगर किसी महिला के शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा ज़्यादा है तो वह कई तरह की समस्याओं जैसे स्तन कैंसर,मासिक धर्म में गड़बड़ी तथा ओवेरियन सीस्ट का शिकार हो सकती है।

डॉक्टर आपके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा जानने के लिए विभिन्न प्रकार की जांच की सलाह दे सकता है। आमतौर पर एक महिला के शरीर में मासिक धर्म बंद होने की स्थिति में 50 pg /ml से 600 pg /ml की मात्रा होती है।

एस्ट्रोजन के गुण – संतुलित आहार (Healthy diet condition)

आपके लिए यह आवश्यक है कि चीनी एवं कार्बोहाइड्रेट की मात्रा वाली सारी चीज़ों से परहेज़ करें। आपको अपने भोजन में ऐसी चीज़ें शामिल करनी चाहिए जो कि फाइबर से भरपूर एवं फैट मुक्त हों। आप अपने भोजन में अतिरिक्त लीन प्रोटीन की मात्रा भी ग्रहण कर सकते हैं। इससे आपके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ेगी।

  • आपको उन उत्पादों का सेवन करना चाहिए जो हमें पौधों से प्राप्त होती हैं। शरीर में संतुलित मात्रा में एस्ट्रोजन की मात्रा बनाने के लिए फाइटोएस्ट्रोजन युक्त भोजन करें। ऐसे कुछ खाद्य उत्पाद हैं सोयाबीन तथा फलियां आदि। इनमें आइसो फ्लेवोनॉयड की मात्रा होती है।
  • फल,सब्ज़ियाँ,बीन्स आदि भोजन उन महिलाओं के लिए ग्रहण करना काफी आवश्यक है जिनके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा काफी कम है।
  • अगर आप अत्याधिक मात्रा में एस्ट्रोजन की मात्रा का सेवन कर रहे हैं तो आपको ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि अधिक मात्रा में एस्ट्रोजन का सेवन महिलाओं में स्तन कैंसर का कारण बनता है।

अत्याधिक व्यायाम से परहेज करें (Exercise without being fanatic)

शोध के मुताबिक़ अत्याधिक व्यायाम मनुष्य के शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा को कम कर सकता है। हालांकि रोज़ाना व्यायाम करना शरीर के लिए काफी अच्छा है एवं इससे महिलाओं में स्तन कैंसर होने की संभावना भी कम होती है।

कई महिला एथलीट भी ऐसी होती हैं जिनके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा कम होती है। इसका कारण यह है कि उनके शरीर में फैट की मात्रा कम होती है जिसके फलस्वरूप उनके शरीर में एस्ट्रोजन बनने की मात्रा कम होती है। ऐसी स्थिति में आपको किसी डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

Source: hinditips

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap