ये 9 आदतें कम करती है आपकी मेमोरी, बदलाव है जरुरी

गाड़ी की चाबी रखकर भूल गए। अभी दो मिनट पहले दोस्त ने एक नबंर बताया, पांच मिनट वो भी भूल गए। शाम की मीटिंग का टाइम और जगह का नाम फोन में रिमाइंडर लगाया, लेकिन फोन ही रखकर भूल गए। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है, तो सोच कर परेशान नहीं हों, बल्कि अपने खानपान में बदलाव करें। यह भूलने की आदत आपके रोज़ाना की भागदौड़ की वजह से नहीं, बल्कि आप जो खा रहे हैं, उसकी वजह से है। आज हम आपको आपकी उन 9 आदतों के बारे में बता रहे है जो आपकी कम होती याददाश्त के लिए जिम्मेदार है। Memory1. सिगरेट

Loading...

अगर आप भी स्टाइल मारने के लिए सिगरेट पीते हों तो संभल जाएं। सिगरेट आपके हिसाब से आपको स्टाइलिश तो बना रही है, लेकिन आपके दिमाग को खाली करती जा रही है। जी हां, सिगरेट और स्मोकिंग पर हुई कई स्टडी बताती हैं कि यह एकदम से नहीं, बल्कि धीरे-धीरे आपकी मेमोरी को कम करती है।

2. एल्कोहल

शादी का जलसा हो या कोई पार्टी, हाथ में शराब से भरा जाम लिए मस्ती में झूमते लोग आपको जरूर दिख जाएंगे। कोई भी मौका हो, शराब के शौकीन एक दो पैग तो लगा ही लेते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं, तो ध्यान दें कि यह आदत आपके दिमाग को धीरे-धीरे कमज़ोर कर रही है। स्टडी बताती है कि हफ्ते में तीन बियर या तीन ग्लास वाइन पीने से कॉन्सन्ट्रेशन पावर और याद्दाश्त कम होती है।

3. ट्रांस फैट्स

अनसैचुरेटेड फैट को ट्रांस फैट कहते हैं। इसे पचाने में बॉडी को बहुत मुश्किल होती है। इस कारण ये सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं। चिप्स, कुकीज, कैंडी बार, फ्राइड फूड्स में ट्रांस फैट होता है। डाइजेस्टिव सिस्टम के साथ ही यह मेमोरी को भी प्रभावित करता है। इसीलिए इनका सेवन कम ही करें।

4. डिप्रेशन

डिप्रेशन से दिमाग पर कई नकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। इससे मेमोरी बुरी तरह प्रभावित होती है। स्टडी से पता चला है कि डिप्रेशन हिप्पोकम्पस को नुकसान पहुंचाता है। ब्रेन का यह हिस्सा मेमोरी को बनाता और डेवलप करता है। डिप्रेशन से चीज़ों को याद रखने की क्षमता कम होती है।

5. न्यूट्रिशन की कमी

न्यूट्रिशन की कमी भी मेमोरी को कम करती है। इसीलिए शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व मिलने चाहिए, खासकर विटामिन बी कॉम्पलेक्स। इस विटामिन की कमी से मेमोरी लॉस भी हो सकता है। इसलिए विटामिन बी से भरपूर फूड जैसे अंडे, रेड मीट, फिश, डेयरी प्रोडक्ट्स जरूर खाएं।

6. रिफाइंड ग्रेन

होल ग्रेन में बहुत सारा फाइबर होता है, इसीलिए यह सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। लेकिन रिफाइंड ग्रेन (ब्रेड, डबल रोटी, बिस्किट आदि) में फाइबर पूरी तरह से खत्म हो जाते हैं। यह स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह तो है ही, मेमोरी पर भी असर डालता है।

7. सैचुरेटेड फैट्स

सैचुरेटेड फैट जैसे मक्खन, घी, मलाई, चिकन, मीट आदि का ज्यादा सेवन डाइजेस्टिव सिस्टम को तो खराब करता ही है, साथ ही मेमोरी को भी धीरे-धीरे नुकसान पहुंचाता है। साथ ही इससे दिल की रक्त वाहिकाओं के संकरा होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

8. ज्यादा शुगर

अपने खाने में ज्यादा शुगर लेने से मेमोरी को नुकसान पहुंचता है। इसीलिए जितना हो सके, कम शुगर लें। जैसे चाय या कॉफी में चीनी कम से कम डालें। बाहर से मिठाई या आर्टिफिशियल शुगर कम लें।

9. स्ट्रेसफुल इवेंट

आपके पास जब भी अचानक कोई स्ट्रेस भरा काम आता है, तो आपका दिमाग उसका सॉल्युशन ढूंढने में लग जाता है। यह स्वाभाविक तौर पर होता है, लेकिन लोग फिजूल में दिमाग पर प्रेशर डालने लगते हैं। इससे दिमाग के काम करने की क्षमता घट जाती है। साइकोलॉजिस्ट्स का कहना है कि किसी भी समस्या में सामान्य बने रहें। तब दिमाग सही से काम करेगा, नहीं तो प्रेशर डालने पर ऐसे सिग्नल मिलने लगेंगे कि आप काम से बचने का बहाना भी बनाने लग सकते हैं।

Source: ajabgjab

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap