स्वाइन फ्लू के लक्षण और बचाव वा उपचार

flu_2434.jpgस्वाइन फ्लू नामक एक नई बीमारी इन दिनों सबके होश उड़ाई हुई है वह है स्वाइन फ्लू। यह बहुत ही गंभी बीमारी है क्योंकि सही समय पर इसका इलाज नहीं कराया गया तो आपकी जान भी जा सकती है। यही नहीं, अगर एक इंसान को इस बीमारी ने घेर रखा है तो उसके संपर्क में आकर अन्य व्यक्तियों में भी यह संक्रमण फैल सकता है।

Loading...

आइए बताते हैं आपको क्या है स्वाइन फ्लू के आम लक्षण और इससे बचने के उपाय:

गले में दर्द होना
‘एसिटेमिनोफेन’ या ‘इबुप्रोफेन’ दर्द को कम करने में मदद कर सकती है। बता दें कि बिना किसी डॉक्टर से सलाह लिए इसे ना लें। कुछ लोगों में नमक के पानी से गरारा करने से उनके गले के दर्द को आराम मिल सकता है।

ठंड और दर्द का इलाज
‘एसिटेमिनोफेन’ या ‘इबुप्रोफेन‘ दर्द को कम करने में मदद कर सकती है। ठंड से बचाव के लिए पीड़ित व्यक्ति को कंबल या गर्म कपड़े से लपेट देना चाहिए।

कन्जेशन का उपचार
फ्लू से पीड़ित रोगी को नाक, कान और छाती का कन्जेशन हो सकता है, जिसके कारण दर्द हो सकता है। ‘एसिटेमिनोफेन‘ या ‘इबुप्रोफेन’ आपके दर्द को कम करने में मदद कर सकती है। फिर भी आपके या आपके बच्चे के लिए कुछ भी उपचार लेने से पहले अपने चिकित्सक से संपर्क करने की सलाह दी जाती है। ध्यान रहें, 4 साल से कम उम्र के बच्चे को कोई कफ या ठंड के लिए दवा नहीं देनी चाहिए।

पेट की समस्याओं का उपचार
स्वाइन वायरस फ्लू पेट दर्द, उल्टी और दस्त का कारण भी बन सकता है। इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को जितना हो सके उतना हल्का भोजन दें, इससे पाचन क्रिया आसान हो जाएगी। इसके रोगी को अधिक से अधिक पानी या तरल देना ही उचित होगा ताकि भोजन पचने में आसानी हो। यदि रोगी को पेट में असहनीय दर्द, बार बार उल्टी या दस्त की शिकायत हो, तो अपने चिकित्सक से तुरंत परामर्श लें।

स्वाइन फ्लू के रोगी का अगर सही इलाज हो तो वह ठीक हो सकता है। बता दें कि इलाज के दौरान रोगी को पर्याप्त आराम की जरूरत होती है और डॉक्टर द्वारा सुझाए दवाईयों को नियमित रूप से लेना होता है।

वैसे यह दवाईयां रोग को पूरी तरह खत्म नहीं करतीं लेकिन ये बीमारी की अवधि को कम करने और लक्षणों को कम करने के अलावा न्यूमोनिया जैसी बीमारी के खतरे को भी कम करती हैं।

लक्षणों की सही जानकारी के लिए आपका डॉक्टर फ्लू की जांच करवाने के लिए भी कह सकता है, अतः स्वाइन फ्लू के लक्षण दिखने पर डॉक्टर की परामर्श अवश्य लें और बगैर चिकित्सकीय देख-रेख के कोई दवा स्वयं ना लें।

Source: sehatgyan

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें! flu_2434.jpg

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap