अचानक दिल की धड़कन रुकने के संकेत क्या है और कैसे इनसे बचा जा सकता है, जाने ?

अचानक दिल की धड़कन रुकने के संकेत क्या है और कैसे इनसे बचा जा सकता है, जाने ?  

अचानक दिल की धड़कन रुकना यानि सडन कार्डिक अरेस्ट हार्ट अटैक की तरह नहीं है। यह एक ऐसी जटिल समस्या है, जिसका सही समय पर इलाज नहीं कराने से ये असामयिक मौत का कारण बन सकती है। हार्ट अटैक में ब्लॉक्ड आर्टरी के कारण दिल को रक्त की आपूर्ति नहीं हो पाती है जबकि कार्डिक अरेस्ट में इलेक्ट्रिक इनबैलेंस की वजह से दिल धड़कना बंद कर देता है। दिल का सही तरह से काम ना करना अनियमित दिल की धड़कन (arrhythmia) का कारण बन सकता है, जिसमें व्यक्ति भावशून्य हो जाता है। इसमें व्यक्ति सांस नहीं ले पाता है और हांफने लगता है। इस स्थिति में आप इमरजेंसी कॉल कर सकते हैं या सीपीआर (कार्डियो पल्मोनरी रिससाइटेशन) यानि मुंह से सांस देना या छाती को थपथपाना शुरू कर सकते हैं।

Loading...
अचानक दिल की धड़कन रुकने के संकेत क्या है और कैसे इनसे बचा जा सकता है, जाने ?  

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap