स्टेरॉयड के संभावित दुष्प्रभाव

steroid इसी कारण वेआजकल के प्रतिस्पर्धा के युग में युवक और युवतियां दोनों ही ज्यादा प्रभावी और आकर्षक दिखने के लिए अपने शरीर को अलग अलग प्रकार के व्यायाम , सप्लीमेंट्स आदि द्वारा चुस्त दुरुस्त रखने की कोशिश करते हैं। बिना सोचे समझे स्टेरॉयड का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे लोगों को स्‍टेरॉयड से पड़ने वाले नुक्‍सान के बारे में नहीं पता होता है। स्टेराइड के बेजा इस्तेमाल के कई गंभीर साइड इफेक्ट हैं। इससे मौत तक हो सकती है। यह आदमी को पूरी तरह से नपुंसक बना सकता है। यह चेहरे को मुंहासों से भर सकता है| शरीर का कोई ऐसा हिस्सा नहीं है जहां इसके नुकसान पहुंचाने की संभावना नहीं हो| इसके लगातार इस्तेमाल से बहुत सारे साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं |
आइये देखते हैं स्टेरॉयड लेने के साइड इफेक्‍ट्स हो सकते हैं:-
1 . मनोवैज्ञानिक प्रभाव – स्टेरॉयड का अधिक इस्तेमाल करने से आपको बहुत से मनोवैज्ञानिक प्रभाव पड़ सकतें हैं | इसका सेवन लम्बे समय तक करने से आपके व्यवहार में आक्रामकता और चिड़चिड़ापन बढ़ जाता है | इसकी वजह से मानसिक तनाव और बीमारियां होने का भी खतरा रहता है |
डिप्रैशन -अगर आप बिना जानकारी के स्टेरॉयड का इस्तेमाल कर रहें हैं तो डिप्रैशन यानि मानसिक तनाव जैसी खतरनाक बीमारी का भी शिकार हो सकते है |स्टेरॉयड का लम्बे समय तक उपभोग करने से पुरुषों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन का स्तर गिर जाता है जिससे आप लम्बे समय के लिए मानसिक तनाव में जा सकते हैं |
2 . मर्दों के हार्मोन सिस्टम पर पड़ने वाला असर- स्टेरॉयड के इस्तेमाल करने पुरुषों में पाए जाने वाले टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स, महिलायों में पाए जाने वाले एस्ट्रोजन हार्मोन में तब्दील हो जातें है | इसके परिणामस्वरूप उन्हें नपुंसकता,अंडकोषों (टेस्टिल्स) का सिकुड़ना, गंजापन, छाती का पूर्ण विकास न होना और नपुंसकता जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है |
3 . उचित ग्रोथ में रूकावट – स्टेरॉयड के इस्तेमाल का सबसे हानिकारक प्रभाव यही है की इसके सेवन से युवाओं का पूर्ण विकास नहीं हो पता ,क्योंकि यह ग्रोथ प्लेट को समय से पहले ही विकसित होने से रोक देता है | परिणामस्वरूप उनके शरीर का उचित विकास नहीं हो पाता |
4 . शरीर के ढांचे पर – अगर छोटी उम्र और छोटे कद में ही कोई स्टेरॉयड लेने लगे तो बौनापन जैसी समस्या भी आ सकती है | इसके अलावा हड्डियों का भुरभुरा होना, कूल्हों का खत्म हो जाना आदि बीमारियां भी हो जाती हैं |
5 . केलोस्ट्रोल का बढ़ना – केलोस्ट्रोल के बढ़ने में भी स्टेरॉयड काफी हद तक जिम्मेदार माना जाता है | केलोस्ट्रोल के बढ़ने से रक्त वाहिकाओं में रूकावट पैदा हो जाती है और व्यक्ति को दिल की बीमारी होने का भी भय हो जाता है |
6 . त्वचा को नुकसान- मनुष्य के शरीर का सबसे बड़ा और सवेंदनशील अंग है त्वचा यानि स्किन और स्टेरॉयड लेने से आपकी त्वचा पर भी साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं जैसे की मुहांसे और गांठें, सिर की त्चचा का ऑइली होना, पीठ पर ढेर सारे लाल रंग के दाने निकल जाना आदि |
स्टेरॉयड के बारें में सबसे मुख्य बात यह है की यह मेडिकल / डॉक्टर निर्देश के बिना बाजार में नहीं मिलता  अगर आप बिना डॉक्टर के परामर्श लिए स्टेरॉयड का इस्तेमाल कर रहें है तो यह गैर क़ानूनी है ,क्योंकि यह एक हानिकारक ड्रग है जिसका निरंतर उपयोग स्त्री और पुरुष दोनों के लिए ही उचित नहीं है | स्टेरॉइड कोई नशा नहीं होता मगर यह लत भी बन जाता है। अगर आपने एक बार इसे लिया तो आप इसे दोबारा लेंगे। जो नतीजे कोई डाइट या कोई दवा नहीं दे पाती वो स्टेरॉइड दे देता है। इसलिए लोग बार बार इसका इस्तेमाल करते हैं। एक दो बार इस्तेमाल करने के बाद उनका डर भी निकल जाता है। अलग दिखने की चाहत में लोग इसके साइड इफेक्ट्स को इग्नोर कर देते हैं। इसलिए स्टेरॉयड का इस्तेमाल करने से पहले इसके हानिकारक प्रभावों के बारें में पूरी जानकारी लेना ही उचित होगा |

Loading...

Source: bodybuildingindia

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें! steroid

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap