भाग-दौड़ भरी जिंदगी की छोटी-छोटी समस्‍याएं कब आपका टेंशन बढ़ा कर आपको ब्लडप्रेशर का मरीज बना देती हैं, आपको इसका पता भी नही चलता। इसी वजह से इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता है। इसके उपचार के लिए यदि आप डॉक्टर से सलाह लेते हैं तो डाक्टर आपको ढ़ेर सारी दवाइयां पकड़ा देते हैं। इन दवाइयों से आपको थोड़े समय के लिए तो राहत महसूस होता है लेकिन ये दवाइयां आपकी बीमारी का स्थायी समाधान नही हैं। इन दवाओं से आपको हमेशा के लिए आराम नही मिलता है बल्कि ज्यादा समय तक दवाओं के प्रयोग से इसके साइड इफेक्ट भी देखने को मिलते हैं। इसलिए बल्डप्रेशर के उपचार के लिए आप योगा का रास्ता अपनाएं। जो कि बिना एक भी पैसे खर्च किए आपके ब्लड प्रेशर की समस्या को ठीक करने का बहुत ही अच्छा विकल्प है।  तो आइये जानते हैं कौन-कौन से योगा हैं जो बढ़े हुए ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए किए जा सकते हैं।

Loading...

पश्चिमोत्तासन:

paschimottanasana

हाई ब्लडप्रेशर के दौरान आपकी धमनियां सिकुड़ने लगती हैं जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। पश्चिमोत्ताशन आपके धमनियों को लचीला बनाता है और बल्ड प्रेशर को कम करता है।

शवासन:

savasanaइस आसन को रोज 20 मिनट तक करने से दिमाग शांत हो जाता है, सारी चिंताए मिट जाती हैं। इससे आपका बल्ड प्रेशर सामान्‍य हो जाता है। यह आसन शरीर, मन, और आत्मा को स्फूर्ति और ताजगी प्रदान करता है।

प्राणायाम:

प्राणायाम सांस की गति और रक्त संचार को सामान्य करता है। दिल का सांस और रक्त संचार से गहरा संबंध होता है। उच्च रक्तचाप के रोगी को नाडीशोधन प्राणायाम और उज्जकयी प्राणायाम (इससे ब्लड प्रेशर कम होता है) करना चाहिए। अनुलोम विलोम प्राणायाम आपकी चिंता और हार्टबीट को कम करता है।

अधो-मुखश्वनासन:

अधो-मुखश्वसनासन को डाउनवर्ड फेसिंग डाग एक्सरसाइज भी कहते हैं। आपके कंधों और पीठ से लेकर कमर तक पूरे पिछले हिस्से में होने वाले तनाव और थकान को कम करने के लिए बहुत ही अच्छा आसन है। और आप जितना ज्यादा तनाव और थकान मुक्त होते हैं ब्लड प्रेशर का खतरा उतना ही कम होता है।

सेतु-बंधासन:

setu-bandhasana

सेतु बंधासन या ब्रिज पोज़ आपके शरीर में रक्त के प्रवाह को सही रखता है जो आपको तनाव मुक्त रखने में मदद करता है। इससे आप खुद को तरोताजा और ज्यादा एक्टिव महसूस करते हैं।

सुखासन:

sukhasana

ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए किए जाने वाले आसनों में सुखासन एक ऐसा आसन है जिसमें आपके दिल पर ज्यादा जोर नही पड़ता। इस योगासन में आप मानसिक और शारीरिक रूप से एकदम आराम की मुद्रा मे होते हैं।

बालासन:

balasana

हाई ब्लडप्रेशर से इंसान थका हुआ व चिड़चिड़ा हो जाता है। ऐसी स्थिति में बालासन या चाइल्ड पोज़ आपके शरीर और दिमाग से बेवजह की थकान को दूर करने मे मदद करता है। इसके अलावा यह आपके शरीर से टॉक्सिन (विषैले तत्वों) को बाहर निकालता है, जिससे आप तनावमुक्त महसूस करते हैं।

योगा तनाव को कम करके रक्तसंचार को सामान्य करने का सबसे कारगर तरीका है। उच्च रक्तचाप के रोगी को व्यायाम के अलावा भी कई बातों का ध्यान रखना चाहिए। ऐसा कोई भी काम नही करना चाहिए जिससे कि दिल की धडकन तेज हो। इसके अलावा समय पर सोना-उठना, आरामदायक व साफ बिस्तर, सोने वाले स्थान पर शांति आदि का ख्याल रखना चाहिए।

हाई ब्लड प्रेशर यानी उच्च  रक्तचाप से आपको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है, इसमें हार्ट-अटैक, नस फटने और किडनी फेल होने का खतरा होता है इसलिए प्रेशर के रोगी को नियमित रूप से व्यायाम करना चाहिए।

Source: india

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...