माहवारी की तकलीफों को समझे इस गाइड से

माहवारी का चक्र सिर्फ प्रेगनेंसी या गर्भनिरोधक गोलियों के बारे में नहीं हैं, यह हमारी सेहत के बारे में बहुत कुछ कहता है। (Periods Problem in Hindi) Guide Se Samjhe Periods Ko in Hindi1. लम्बे समय तक चलने वाला अनियमित व अधिक बहाव (Irregular Menses and Heavy Menstrual Bleeding)

Loading...

अगर आपको लम्बे समय तक चलने वाला अनियमित व अधिक बहाव होता है और आपका वज़न ज्यादा है, तो इसका मतलब है कि आपका एस्ट्रोजन बढ़ा हुआ है। अत्यधिक फैट सेल्स ओवरीस को अंडाशय रिलीज़ करने से रोकते हैं और इंडोमेटरिअल लाइनिंग मोटी होती रहती है। अपने डॉक्टर से सलाह लेकर वज़न कम करें। 

2. कम या नहीं के बराबर बहाव (Less and Low Menstrual Bleeding)

कम बहाव का अर्थ है कि पीरियड्स की अवधि दो दिन से कम है या फिर बहाव 80मि.ली. से कम है। यह वंशानुगत हो सकता है, इसलिए यदि आपकी माता या बहन को कम बहाव होता है तो घबराने की ज़रूरत नहीं। वैसे कम बहाव तब भी होता है जब ओव्युलेषण नहीं होता। 

3. पीरियड्स ना होना (No Periods)

प्रेगनेंसी के दौरान, ब्रैस्ट फीडिंग के दौरान,प्युबर्टी के पहले या फिर मेनोपॉज के बाद पीरियड्स न होना सामान्य बात है।

पीरियड्स का बिलकुल ना होना सामान्य नहीं है। इस स्थिति का निवारण मुश्किल होता है। इसके आलावा अगर किसी को सिर्फ एक बार ही पीरियड्स हुए हैं तो ये भी सामान्य नहीं है। 

4. मेंस्त्रुअल क्रेम्प्स(एंठन) (Menstrual Cramps)

पीरियड्स के दौरान क्रेम्प्स या एंठन बेहद सामान्य घटना है, जो कि ज्यादातर एक या दो दिन चलती है। 

5. असामान्य रक्तस्राव (Abnormal Bleeding)

जब आपकी पीरियड साइकिल के बीच में, या सेक्सुअल गतिविधि के बाद अत्यधिक या सामान्य से ज्यादा रक्तस्राव होता है या स्पॉटिंग होता है तो उसे असामान्य युटरीन ब्लीडिंग कहते हैं। अगर आपकी पीरियड साइकिल 21 दिन से कम या 35 दिन से ज्यादा हो तो उसे भी असामान्य माना जाता है। 3 से 6 महीने तक भी अगर आपको ब्लीडिंग नहीं होती है तो ये भी असामान्य है। 

पीरियड्स और आपका मानसिक स्वास्थ्य (Periods and Mental Health)

पीरियड्स का आपके शरीर और आपकी मानसिक स्थिति से सीधा सम्बन्ध है। एस्ट्रोजन का आपकी सकारात्मक सोच, प्रेरणा शक्ति, याददाश्त, सेक्स ड्राइव, सोचने समझने की शक्ति और तनाव के प्रति आपके रवैय्ये पर प्रभाव आता है। ये आपको अच्छी भावनाएं देता है।

Source: healthindian

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Guide Se Samjhe Periods Ko in Hindi

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap