गुणों की खान पाम औयल

खाना पकाने के लिए आज पाम औयल तेजी से अपनी पैठ बनाता जा रहा है. यह न सिर्फ कौलेस्ट्रौल फ्री है बल्कि हमारे शरीर को ऊर्जा भी देता है. हम भारतीयों के लिए तो यह और भी बेहतर विकल्प है, क्योंकि हमारे यहां के भोजन में तेल का बहुलता से प्रयोग होता है. आज चूंकि प्रत्येक व्यक्ति अपने खानपान को ले कर अधिक सजग हो गया है, ऐसे में किसी के भी मन को वही वस्तु लुभा सकती है, जो स्वास्थ्य के नजरिए से अधिक से अधिक लाभकारी विकल्प हो और पाम औयल इस कसौटी पर खरा उतरता है. प्रचुर मात्रा में व आसानी से उपलब्ध होने वाला पाम औयल सही माने में किसी भी आहार को संतुलित आहार बनाता है. आप को यह जान कर हैरानी होगी कि बाजार में कई चीजें, जो आप खाते हैं, पाम औयल से बनी होती हैं. जैसे, बेक्ड वस्तुएं, इंस्टैंट नूडल्स, बेबी फारमूला, केक मिक्स, ब्रेकफास्ट बार, पोटैटो चिप्स और ऐसे ही अन्य स्नैक्स. कुछ रेस्तरांओं में मिलने वाली फ्रैंच फ्राइस में भी पाम औयल का प्रयोग किया जाता है.

Loading...

पूरे विश्व में मलेशिया पाम औयल का सब से बड़ा उत्पादक है. इस का उत्पादन 5,000 वर्ष पूर्व मिस्र में शुरू हो चुका था. आज यह 100 से अधिक देशों में अपनी अच्छी जगह बना चुका है विश्व के कुछ देशों में तो इसे बिना साफ किए (अनरिफाइंड) ही प्रयोग किया जाता है. यह व्यंजनों में सुनहरा लाल रंग और अनूठा स्वाद देता है.

पाम औयल के फायदे

यह ट्रांस फैट से मुक्त होता है.

पेस्ट्री, कुकीज, क्रैकर्स और लंबे समय तक स्टोर कर के रखे जाने वाले अन्य खाद्यपदार्थों के लिए आवश्यक ‘हार्ड या सौलिड’ फैट, इस में प्राकृतिक रूप से उपलब्ध होता है. बाकी खाद्य तेलों को इस के लिए विशेष प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है.

यह ऐंटीऔक्सीडैंट्स से भरपूर होता है.

इस में मौजूद टोकोट्राइनौल्स विटामिन ई का महत्त्वपूर्ण स्रोत है. यह कैंसर, ब्लड डिसऔर्डर आदि से तो बचाव तो करता ही है, त्वचा व प्रजनन हेतु भी अच्छा है.

पाम औयल में मौजूद बीटा केरोटिन के कारण इस का रंग लाल होता है. यह विटामिन ए का महत्त्वपूर्ण स्रोत है, जो अल्जाइमर, हृदय रोग, मोतियाबिंद, आर्थराइटिस और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से हमारी रक्षा करता है.

पाम औयल में एचडीएल (हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन) प्रचुर मात्रा में होता है. यह ‘गुड फैट’ की श्रेणी में आता है, जो कौलेस्ट्रौल बढ़ने से रोकता है.

स्वाद व सुगंध रहित होने के कारण यह बेकिंग के लिए सर्वथा उपयुक्त है.

यह अन्य सैचुरेटेड तेल, जैसे नारियल तेल से ज्यादा स्वास्थ्यप्रद तेल है, जो हृदय रोगों से रक्षा करता है.

कई प्रकार के पोषक तत्त्वों से भरपूर पाम औयल में हमारे शरीर के लिए आवश्यक कई प्रकार के फैटी ऐसिड्स का मिश्रण भी होता है.

Source: grihshobha

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap