मसूड़ों को साफ़ रखने के लिए आयल पुलिंग की विधि

%image_alt%

जो लोग दांतों और मसूड़ों की समस्या के शिकार है उन्हें आयल पुलिंग या तेल द्वारा मन साफ करने की विधि की सलाह दी जाती है। यह दांतों और मसूड़ों को साफ करने का काफी प्रभावी तरीका है। आयल पुलिंग के माध्यम से आपके मुंह के सारे हानिकारक बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। बुज़ुर्ग व्यक्तियों और अन्य कई लोगों जिन्होंने आयल पुलिंग की विधि को अपनाया है,द्वारा इस विधि की काफी तारीफ़ की जाती है। कई लोगों को तेल द्वारा मुंह साफ़ करने की इस विधि के बारे में पता नहीं होता। इसके अंतर्गत तेल को मुंह के अंदर कुछ समय के लिए भर लिया जाता है। इस क्रिया से मुंह के स्वास्थ्य में काफी बढ़ोत्तरी होती हैं।

Loading...

यह तेल के त्वचा को साफ़ करने जैसा ही काम करता है। यह प्लाक हटाने में सक्षम है और मसूड़ों और दांतों को नुकसान पहुंचाए बिना मुंह के सारे टोक्सिन निकाल देता है।

ग्राहक समीक्षा

आपको हज़ारों ऐसे लोग मिलेंगे जिन्होंने आयल पुलिंग की इस तकनीक को इस्तेमाल किया है और उनें इससे काफी फायदा हुआ है। मुंह को साफ़ करने के अलावा आयल पुलिंग द्वारा हॉर्मोन की अनियमितताओं, त्वचा की परेशानियों,लिवर की परेशानियों,सिरदर्द और दूसरे संक्रमणों से बी छुटकारा मिलता है।

एक शोध के अनुसार जो लोग बरसों से आयल पुलिंग की प्रक्रिया का प्रयोग करते आये हैं उनके मसूड़े और दांत काफी मज़बूत पाए गए हैं। इसके प्रयोग से दांतों और मसूड़ों में होने वाली सनसनी भी कम हो जाती है।

जानकारों की सलाह

जानकारों के अनुसार बैक्टीरिया द्वारा फैलाए जाने वाला संक्रमण किसी इंसान के मुंह द्वारा भी उसके रक्त में प्रवेश कर सकता है। इससे शरीर के अन्य हिस्सों में भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। आपके मसूड़ों या दांतों में कोई तकलीफ होने के साथ ही आप काफी परेशान और खराब तरह के अनुभव करते हैं। आयल पुलिंग करने के कई फायदे बताये गए हैं और इसके कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं हैं,परन्तु आपको तेल के प्रकार का ध्यान रखना होगा। जब तक कोई व्यक्ति अच्छे क्वालिटी का तेल इस्तेमाल कर रहा है,तब तक उसे कोई परेशानी नहीं होगी।

आयल पुलिंग के अन्य फायदे

१. दांतों के इलाज की दूसरी विधियों के मुकाबले आयल पुलिंग की विधि काफी सस्ती होती है।

२. क्योंकि यह विधि आयुर्वेदिक चिकित्सा के अंतर्गत आती है,अतः इसमें केवल प्राकृतिक पदार्थ ही प्रयोग में लाये जाते हैं। इसलिए इस विधि के कोई साइड इफेक्ट्स नहीं होते।

३. यह प्रक्रिया काफी आसान होती है। आपको सिर्फ अपना मुंह खोलकर तेल को अंदर डालना है और मुंह को उसी अनुसार ऊपर उठाना है। आपको इस तेल का अपने माउथ वाश की भाँति ही प्रयोग करना है।

४. यह मुंह और साइनस में होने वाले तरह तरह की समस्याओ को दूर करने का एक शक्तिशाली एवं प्रभावी माध्यम है।

५. गहरे पीले रंग का म्यूकस इस तेल की विधि द्वारा निकाला जा सकता है।

६. आपको तेल की विधि का प्रयोग करने के बाद ऐसा कोई दर्द नहीं होगा जितना आपको दांत उखड़वाने के बाद होता है।

७. इससे आपके शरीर में बीमारियां पैदा करने वाले टोक्सिन नष्ट हो जाएंगे और शरीर को खुद को ठीक करने का मौका मिलेगा।

Source: hinditips

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap