जीवन शैली कोलेस्ट्रॉल के सीमित सेवन से हृदय रहेगा स्वस्थ

हृदय रोग के होने का मुख्य कारण कोलेस्ट्रॉल है. सही खान-पान द्वारा हृदय की धमनियों में कोलेस्ट्रॉल के जमाव को रोका जा सकता है और जीवनपर्यंत हृदय को स्वस्थ रखा जा सकता है. अत: इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि ज्यादा कोलेस्ट्रॉलवाले खाद्य-पदार्थों का कम-से-कम सेवन हो और हृदय को स्वस्थ रखनेवाले खाद्य-पदार्थों का सेवन ज्यादा-से-ज्यादा हो. शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर की जांच नियमित रूप से कराते रहें. खान-पान संबंधी जागरूकता रख कर हम हृदय को स्वस्थ रख सकते हैं.

Loading...

साबूत अनाज है फायदेमंद

साबूत अनाज का प्रयोग अधिक करें. रिफाइंड और पॉलिश किये अनाज का प्रयोग कम-से-कम करें. मकई, बार्ली, ज्वार, बाजरा, रागी, मड़ुवा में फाइबर अधिक होता है.

अत: इन सबको मिला कर मिश्रित धान का आटा बेहद सेहतमंद होता है. अंकुरित अनाज विटामिंस, मिनरल्स, फाइबर के अच्छे स्रोत हैं, इनका इस्तेमाल रोज करें. सफेद ब्रेड, मैदा, सूजी, पास्ता, पिज्जा, सोडा, रिफाइंड अनाज, तले-भुने पदार्थों में फाइबर की मात्रा नगण्य होती है, अत: इन्हें कम खाएं. गेहूं, मकई, ओट्स का दलिया हृदय के लिए लाभकारी होता है. सोयाबीन प्रोटीन व फाइबर का महत्वपूर्ण स्रोत है. यह हृदय को स्वस्थ रखता है. सोयाबीन का ढोकला, इडली, सोयाबड़ी, सोया मिल्क, टोफू सभी सेहतमंद व्यंजन हैं. दूध के फैट में कोलेस्ट्रॉल होता है. अत: हृदय को स्वस्थ रखने के लिए स्किम्ड मिल्क, फैट फ्री मिल्क, टोंड, डबल टोंड, स्लिम ड्रीम मिल्क इत्यादि का इस्तेमाल करें. दही, छाछ, लस्सी, पनीर, खीर, आइसक्रीम इत्यादि व्यंजन भी इन्हीं दूध से बनाएं.रोज खाएं टमाटर

Loading...

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap