इन तरीको से करे असली गुलाल की पहचान

newstrack

बाजार में थाली में सजे हुए रंग- बिरंगे और चमकीले खुले हुए गुलाल देखने में बहुत सुन्दर लगते है.पर क्या आप जानते है की ये बहुत ज़्यादा खतरनाक होते है. इनमें चमक को बढ़ने के लिए कांच का बारीक पाउडर ही डाला जाता है. सस्ते- सस्ते के साथ इसकी चमक दमक को देखकर हालांकि हम इसे खरीदना बेहद पसंद करते हैं, मगर इसमें मिला यह कांच का पाउडर और मिट्टी जिससे त्वचा छीलने, लाल पड़ जाने, एलर्जी हो जाने जैसी शिकायत आ जाती है.

Loading...

कैसे करें गुलाल का टेस्ट

अगर गुलाल की मिलावट की टेस्टिंग करनी है तो पानी में डाले. सादे पानी में डालने पर अगर वह गुलाल एकदम से मिल जाता है. तो वह ठीक है और अगर गुलाल पानी में डालते ही एकदम से ऊपर उठकर आ जाए और थोड़ा बुलबुले उठे तो समझ जाए की गुलाल नकली है.

टेसू के फूलों वाला प्राकृतिक समझा जाने वाला रंग और गुलाल भी बहुत ही खतरनाक है. जांच के बाद सामने आया कि इसमें केवल अरारोट, कॉपर सल्फेट और आर्टिफिशियल सुगंध के सिवा और कुछ भी नहीं है. यानि टेसू के नाम पर तो इसमें कुछ भी नहीं निकला है. यह टेसू वाला रंग या गुलाल अगर ज्यादा देर तक चेहरे पर लगा रहे तो चेहरे पर लाल- लाल निशान पड़ जाते हैं.

Source: newstracklive

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!
newstrack

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap