पीलिया में ज़रा सी लापरवाही हो सकती है जानलेवा ! इन घरेलू उपचार से निजात पाइए

पीलिया एक लीवर से संबंधित रोग है, जिससे पूरा शरीर पीला पड़ने लगता है. पाचन शक्ति कमज़ोर हो जाती है और शरीर दुर्बल हो जाता है.

Loading...

अगर इसका उपचार सही समय पर न किया जाए तो ये जानलेवा भी साबित हो सकता है.

पीलिया के तीन प्रकार

1 – हेमेलाइटिक जॉन्डिस में खून के लाल कण नष्ट होकर कम होने लगते हैं, जिससे खून में बिलरूबिन की मात्रा बढ़ने लगती है और शरीर में खून की कमी होने लगती है.

2 – ऑबस्ट्रक्टिव जॉन्डिस (obstructive jaundice) में बिलरूबिन के ड्यूडेनम को पहुंचने में बाधा पड़ने लगती है.

3 – तीसरे प्रकार के पीलिया में सेल्स को जहरीली दवा या विषाणु संक्रमण से नुकसान पहुंचने की वजह से होता है.

पीलिया के लक्षण

त्वचा, जीभ और आंखों का पीला होना ही इन तीनों प्रकार के पीलिया के मुख्य लक्षण हैं.

इसके अलावा अत्यंत कमज़ोरी, सिरदर्द, बुखार, मिचली, भूख न लगना, ज़रूरत से ज्यादा थकान महसूस होना, कब्ज होना और मूत्र का रंग पीला होना उसके बाकी लक्षण हैं.

पीलिया के घरेलू उपचार

1 – रोज़ कम से कम दो ग्लास मूली का रस पीने से पीलिया बहुत जल्दी ठीक हो जाता है.

2 – पीलिया के मरीज़ को पुदीने की चटनी खाने के साथ सुबह शाम खाना चाहिए इसके साथ ही पुदीने के पंद्रह बीस पत्तों का रस सुबह शाम पीने से बहुत फायदा होगा.

3 – पीलिया होने पर मरीज़ को कच्चा पपीता सलाद के रुप में खाना चाहिए इससे बहुत लाभ होता है.

4 – कच्ची प्याज में नींबू निचोड़कर सुबह शाम भोजन के साथ सलाद के रुप में खाने से पीलिया के लक्षण बहुत जल्दी दूर हो जाते हैं.

5 – धनिए के 10 ग्राम बीज रात को पानी में भिगोकर रख दीजिए, सुबह उस पानी को छानकर पी लीजिए. ये पानी लीवर के सारे टॉक्सिन्स को दूर करेगा और पीलिया से छुटकारा दिलाएगा.

6 – जौ का पानी लीवर को डिटॉक्सीफाई करता है और पीलिया को दूर करता है.

7 – पीलिया होने पर 50 ग्राम ताज़े आंवले के जूस में 2 चम्मच तुलसी के पत्तों का रस मिलाकर रोज़ खाली पेट पीजिए. कुछ ही दिनों में पीलिया से मुक्ति मिल जाएगी.

8 – रोज सुबह शाम गन्ने के रस में आधा नींबू निचोड़कर पीने से भी पीलिया के रोगी को बहुत लाभ होता है.

9 – पीलिया होने पर पानी ज्यादा पीना चाहिए ऐसा करने से शरीर से सारे टॉक्सिन्स यूरिन के ज़रिए बाहर निकल जाते हैं.

10 – पीलिया के मरीज़ को दिन में दो बार दही ज़रूर खाना चाहिए क्योंकि दही में मौजूद गुड बैक्टिरिया लीवर को डिटॉक्सीफाई करता है.

11 – इसके अलावा तरबूज, केला, अनानस, संतरा, मोसंबी जैसे फलों को सेवन पीलिया के मरीज़ को करना चाहिए.

ये थे पीलिया के घरेलू उपचार –

अगर पीलिया का वक्त पर सही उपचार नहीं किया गया तो मरीज़ को अपनी जान भी गवांनी पड़ सकती है. इसलिए जब भी किसी मरीज़ में ऐसे लक्षण दिखाई दे, तो पीलिया के घरेलू उपचार को आज़माइए और पीलिया से जल्दी निजात पाइए

Source: youngisthan

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap