इन तरीको से मिलेगी माइग्रेन के दर्द से राहत

NationalsUpdates

माइग्रेन की प्रॉब्लम लोगों में आजकल आम सुनने को मिल रही है। यह एक तरह का सिरदर्द है, जिसका दर्द काफी तकलीफदेह हो सकता है। इससे सिर के आधे हिस्से में जोरदार दर्द शुरू हो जाता है जो लगातार कई घंटों तक भी बना रह सकता है। दिमाग में रसायनों के असंतुलन, बदलते मौसम और मानसिक तनाव इसके कारण हो सकते हैं।

Loading...

माइग्रेन के लक्षण
यह दर्द अचानक शुरू होकर अपने आप ही ठीक भी हो जाता है। इसके संबंधित लक्षणों में तनाव, बैचेनी, मितली थकान, फोटोफोबिया (रोशनी के प्रति ज्यादा संवेदनशीलता) और फोनोफोबिया (आवाज के प्रति ज्यादा संवेदनशीलता) शामिल हैं। यह किसी भी उम्र के शख्स को हो सकता है। इस दर्द से पीड़ित एक तिहाई लोगों को ऑरा के माध्यम इसका पूर्वाभास हो जाता है जिससे गति पैदा करने वाली नसों में अवरोध होता है, जिससे यह संकेत मिलता है कि शीघ्र ही सिरदर्द होने वाला है।

घरेलू तरीके से कैसे पाएं दर्द से छुटकारा
इस दर्द के निवारण के लिए डॉक्टर कई तरह की दवाइयां देते हैं लेकिन लगातार दवाइयों के इस्तेमाल से शरीर पर बुरा असर पड़ता है और बॉडी दवाइयों की आदी हो जाती है। इससे बचने के लिए कई घरेलू नुस्खे भी हैं जो इस दर्द से राहत दिलाने में मददगार साबित होते हैं।
-तनाव से दूर
माइग्रेन काम का ज्यादा प्रैशर, नींद पूरी न लेने और तनाव की वजह से होता है। इससे बचने के लिए आपने खाने-पीने का ध्यान रखें और लाइफस्टाइल को बदलिए। भागदौड़, टैंशन से दूर रहने की कोशिश करें। मक्खन में मिश्री को मिलाकर खाने से माइग्रेन में राहत मिलती है।
-सिर की मालिश
हल्के हाथों से की गई मसाज दवा से ज्यादा और जल्दी असर करती है। माइग्रेन का दर्द होने पर सिर, गर्दन और कंधों पर हल्के हाथों से मालिश करें। ध्यान रहें कि जिस तेल से आप मालिश कर रहे हैं, वह तेज खूशबू वाला न हों। आप अरोमा तेल, देसी घी में कपूर मिलाकर मालिश कर सकते हैं।
-मधुर और हल्का संगीत कुछ लोग संगीत सुनकर फ्रैश महसूस करते हैं। माइग्रेन दर्द होने पर धीमी और मधुर आवाज में संगीत सुनना बहुत फायदेमंद होता है। अपने पसंदीदा गानों को सुनिए, इससे सिरदर्द कम होगा और आपको राहत मिलेगी।
-अरोमा थैरेपी
इस असहनीय दर्द से राहत पाने के लिए अरोपा थैरेपी का इस्तेमाल काफी बढ़ गया है। लोग इस थैरेपी को खूब पसंद भी कर रहे हैं। इसमें एक तकनीक के माध्यम से हर्बल तेलों को हवा में फैला दिया जाता है और फिर भाप के जरिए चेहरे पर डाला जाता है।
-धीरे-धीरे सांस लें
धीरे-धीरे और लंबी सांसें लेने की कोशिश करें। धीमी गति से सांस लेने पर आपको दर्द के साथ होने वाली बैचेनी से भी राहत मिलेगी।
-गर्म या ठंडे पानी से मसाज
इस दर्द में कुछ लोगों को गर्म तो कुछ को ठंडे पानी से मसाज करने से आराम मिलता है। एक तौलिए को गर्म पानी में डुबोए फिर दर्द वाले हिस्से पर हल्के-हल्के टकोर दें। इसी तरह जिन लोगों को ठंडे पानी से राहत मिलती है, वह बर्फ के टुकड़ों का इस्तेमाल करें।
-नींबू के छिलके
नींबू के छिलके को पीसकर इसका लेप तैयार कर लें। इस लेप को माथे पर लगाएं इससे दर्द से जल्द राहत मिलती है। अगर इन सबसे राहत न मिलें तो डॉक्टर से संपर्क करें।

Source: nationalupdates

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap