हृदय रोग को रोकने के लिए जीवन शैली कैसे बदलें

%image_alt%

एक व्यक्ति को हृदय रोग कई कारणों की वजह से होता है। इनमें से एक लोगों की जीवन शैली है। हमारे पूर्वजों को कभी हृदय रोग नहीं होता था इसका कारण उनकी सरल और स्वस्थ जीवन शैली थी। लेकिन, आज हमने अपनी जीवन शैली को बहुत जटिल बना दिया है, और हमारे भोजन में मिलावट हृदय रोग की समस्या को पाने के लिए एक अन्य कारण भी है। लेकिन, गंभीर उपचारों के अतिरिक्त, आज हृदय रोग से बचने के कई तरीके भी हैं।

Loading...

जीवन शैली में परिवर्तन के साथ, आसानी से हृदय रोग की समस्या को जीता जा सकता है। हृदय रोग के महत्वपूर्ण कारणों में से कुछ शामिल हैं: धूम्रपान, शराब पीना, शारीरिक गतिविधियों में कमी और तनाव है।

जीवन शैली में परिवर्तन के साथ हृदय रोग से बचने के तरीके

पसीना निकालें

व्यायाम, फिट रहने का एक बढ़िया तरीका है। अगर आप बहुत कठिन शारीरिक गतिविधियों के लिए अनुकूलित नहीं हैं, तो आप अपने भौतिक कार्यक्रमों से 30 मिनट का समय निकालें और पसीना निकालने के लिये व्यायाम करें। एक सप्ताह में लगभग 5 दिनों के लिए तेज चलने की स्थिति आपके लिये बेहतर होगी। यदि आप अधिक वसा जला कर बाहर निकालना चाहते हैं, तो आप 60 मिनट की अवधि के लिए भी जा सकते हैं। इस प्रकार आप एक सप्ताह में 600- 1200 कैलोरी जलाकर आसानी से बाहर निकाल सकते हैं। यह आवश्यक नहीं है कि आप ज़िम में जाकर कठिन शारीरिक व्यायाम को करें। व्यायाम शुरू में थोड़ा थोड़ा करें और धीरे धीरे इसमें अधिक समय को दे और पसीना निकालें।

धूम्रपान बंद करें

जैसा कि आप जानते हैं धूम्रपान हृदय रोग का एक अन्य कारण है जिसके कारण कैंसर हो सकता है, इसलिये पूरी तरह से धूम्रपान को रोकने की सलाह दी जाती है। सिगरेट में शामिल तंबाकू दिल की समस्याओं के प्रमुख जोखिम कारक के रूप में जाना जाता है। यह आपकी धमनियों को सकरा करने के लिये जिम्मेदार भी है जो बदले में एथेरोस्क्लेरोसिस को जन्म दे सकता है। एक व्यक्ति में दिल की समस्या की यह स्थिति निश्चित रूप से दिल का दौरा पड़ने को जन्म देगा। शुरू में आपनी आदत को बदलने के लिये कम निकोटीन सिगरेट या ई सिगरेट का प्रयोग कर सकते हैं। लंबे समय तक इसका प्रयोग भी बहुत ही जोखिम भरा हो सकता है।

स्वस्थ वजन को बनाए रखना

अगर आपका वजन सामान्य से अधिक है, तो आपके अधिक वजन की समस्या के कारण आपको कई घातक बीमारियां हो सकती हैं। इन घातक बीमारियों में से एक हृदय रोग है जो अधिक वजन के प्रभाव के कारण हो सकता है। आप हो सकता है कि इन बीमारियों के इलाज के लिये पर्याप्त समय पा जायें लेकिन, हृदय रोग आपको कभी भी समय नहीं देगा। एक अनुसंधान के अनुसार, यदि आपका वजन एक साल में एक किलो बढ़ता है तो हृदय रोग का जोखिम कभी भी कम नहीं होगा। यह महत्वपूर्ण होगा कि आप नियमित आधार पर बीएमआई मापें और ऊंचाई के हिसाब से वजन को नियंत्रित करके फिट और स्वस्थ रहें।

नियमित स्वास्थ्य जांच

आज, नियमित आधार पर स्वास्थ्य जांच एक महत्वपूर्ण गतिविधि है। कई लोग मधुमेह, कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप आदि जैसी समस्याओं से पीड़ित हैं। आपको नियमित आधार पर अपने रक्त शर्करा के स्तर का परीक्षण और इसके लिए उपचार लेना चाहिए। यदि आप रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं, तो यह हृदय रोग के जोखिम को कम करने के लिए काफी आसान हो जाएगा।

Source: hinditips

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap