स्टडी में खुलासा – पढऩे – लिखने वालों को कम होता है हार्ट अटैक का खतरा

स्टडी में खुलासा, पढऩे-लिखने वालों को कम होता है हार्ट अटैक का खतरा

पढऩे लिखने से व्यक्ति उदार ह्रदय होता है, पर एक स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ है कि इससे हार्ट से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम होता है, साथ मेंटल हेल्थ भी अच्छी रहती है। रिसर्चरों ने शिक्षा और हार्ट के बीच के संबंधों पर स्टडी की, तो उन्हें आश्चर्यजनक रूप से चौंकाने वाले नतीजे मिले।

Loading...

इक्वलिटी इन हेल्थ नाम के एक अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य जनरल में इस अध्ययन में छपी ये रिपोर्ट 45 साल से अधिक उम्र वाले 237153 महिला पुरुषों पर की गई। इस रिसर्च में पाया गया कि कम पढऩे लिखने वालों को स्ट्रोक का खतरा अधिक होता है। ऐसे अधेड़ व्यक्ति जिन्होंने ग्रेजुएशन या उससे ऊपर की उच्च शिक्षा नहीं ली है, यूनिवर्सिटी स्तर की पढ़ाई करने वालों की अपेक्षा उनमें स्ट्रोक का खतरा 50 फीसदी अधिक होता है। स्टडी में खुलासा, पढऩे-लिखने वालों को कम होता है हार्ट अटैक का खतरा

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap