ये चीजें भूलकर भी एक साथ न खाएं

हम अधिकांश चीजों का सेवन दो ही कारणों से करते हैं – पहला भूख मिटाने एवं पोषण पाने के लिए और दूसरा उसका स्वाद लेने के लिए यानी शौकिया तौर पर। लेकिन इन दोनों ही अवसरों पर हम कई ऐसी चीजें साथ खा लेते हैं, जिनकी तासीर यानी प्रकृति एकदूसरी के वितरीत होती है। ऐसे में वे लाभ की बजाय शरीर में नुकसान करने लगती हैं। आयुर्वेद कहता है कई ऐसी चीजें हैं, जिन्हें भूलकर भी एक साथ न खाएं । आइए जानते हैं ऐसी ही चीजें

Loading...
Dont-eat-togather
1. दूध और फल एक साथ

अक्सर हम दूध के साथ फल खा लेते हैं। व्रत में अधिकतर लोग यही तरीका अपनाते हैं। लेकिन उन्हें पता नहीं होता कि फल यदि दूध के साथ खाए जाएं तो दूध का कैल्शियम फलों के एंजाइम्स खुद पी जाता है और शरीर को लाभ नहीं मिलता। खट्टे फल तो कभी भी दूध के साथ लेने ही नहीं चाहिए, जैसे अन्नानास या संतरा आदि। इसी तरह केला और दूध को साथ नहीं लेना चाहिए,क्योंकि ये दोनों कफ बढ़ाते हैं और पाचन को कमजोर कर देते हैं। इसलिए इन चीजों को एक साथ न खाएं ।

2. दही के साथ फल

अक्सर लोग फ्रूट रायता बना लेते हैं, यानी दही में मसालों के साथसाथ फल भी डाल लेते हैं। लेकिन ऐसा करना नहीं चाहिए, क्योंकि दही और फलों में अलगअलग एंजाइम्स होते हैं। जब कोई इनको एक साथ ग्रहण करता है तो वह दोनों के एंजाइम पचा नहीं पाता। इसलिए फ्रूट रायता के सेवन से भी बचना चाहिए।

3. मीठे और खट्टे फल एक साथ

खट्टे फलों के साथ मीठे फल कभी भी नहीं खाने चाहिए। इसका कारण यह है कि खट्टे फलों में दोतीन तरह के एसिड होते हैं। वहीं मीठे फलों में शुगर होता है। लेकिन खट्टे फलों के एसिड ज्यादा तेज होते हैं, ऐसे में वे मीठे फलों की शुगर को हजम ही नहीं होने देते। इसी कारण संता और केला जैसे फल एक साथ खाने पर उल्टी जैसा महसूस होने लग जाता है।

4. खाने के साथ पानी जहर समान

आयुर्वेद कहता है कि पानी भले सेहत के लिए कितना भी अच्छा क्यों न हो, यदि भोजन के साथ पानी ग्रहण करेंगे तो वह जहर समान काम करेगा। इसका कारण यह है कि जब हमारे पेट में अग्नि जिसे जठराग्नि कहते हैं, जलती है तो हमें भूख का अहसास होता है। तभी हम खाना खाते हैं। लेकिन यदि भोजन के साथ जल ग्रहण करेंगे तो जठराग्नि शांत हो जाएगी, जिससे खाना पचाना ही संभव नहीं हो पाएगा।

5. दूध के साथ नमकीन

दूधचाय के साथ नमकीन और स्नैक्स के नाम पर तलीभूनी चीजें खूब खाते हैं। चाय के कैमिकल तो इतने तेज होते हैं कि उसके साथ कुछ न कुछ खाना ही चाहिए और यह आसानी से हजम भी हो जाता है। लेकिन दूध में तो विटामिन और मिनरल के साथ प्रोटीन और लैक्टॉस शुगर भी होते हैं। जब इनके साथ नमकीन पदार्थों का नमक प्रतिक्रिया करता है तो ये आसानी से हजम ही नहीं हो पाते। लगातार ये खाते रहें तो त्वचा रोग शुरू हो सकते हैं।इसलिए इन चीजों को एक साथ न खाएं ।

6. फैट वाले और प्रोटीन वाले पदार्थ

कई लोग भारी प्रोटीन वाले पदार्थों जैसे पनीर, मीट और अंडा आदि को फैट वाले पदार्थों जैसे तेल या घी आदि में तल लेते हैं। लेकिन शरीर एक साथ फैट और प्रोटीन को प्रोसेस नहीं कर पाता। नतीजा ये होता है कि पहले चर्बी चढ़नी शुरू होती है और फिर कॉलेस्ट्रॉल के रूप में नाडि़यों तक असर आ जाता है।

7. गर्म और ठंडी तासीर वाले पदार्थ

विपरीत तासीर वाले पदार्थ एक साथ कभी नहीं खाने चाहिए। जैसे मछली की तासीर गर्म है, उसे दही के साथ नहीं खाना चाहिए। इसी तरह दही की तासीर ठंडी है तो इसे किसी भी गर्म तासीर वाली चीज के साथ नहीं खाना चाहिए। यदि आप इन पर ध्यान न देकर विपरीत तासीर वाली चीजें खाते रहेंगे तो गैस, त्वचा रोग और एलर्जी शुरू हो जाएगी।

8. दही के साथ दूध

यह तो सभी जानते ही होंगे। चूंकि इन दोनों की तासीर भी विपरीत है, तो एक साथ इनका सेवन नहीं करना चाहिए। दही में खमीर होता है जो दूध के साथ मिलता है दूध को खराब कर देता है। इससे उल्टी, गैस, एसिडिटी और अपच भी हो सकती है। इसी तरह दूध के साथ कोई भी खट्टा फल नहीं खाना चाहिए।

Source: sirfkhabar

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap