डैंडी – वॉकर सिंड्रोम – दिमाग को खतरे में डालती एक समस्या

जन्मगत तकलीफें कई बार जिंदगी को खतरे की जद में ले आती हैं। खासकर वे बीमारियां, जो शारीरिक या मानसिक विकास से जुड़ी होती हैं। डैंडी-वॉकर सिंड्रोम ऐसी ही एक समस्या है, जिससे मानसिक विकास पर असर पड़ता है। हालांकि यह एक दुर्लभ बीमारी है लेकिन कई केसेस में त्वरित इलाज जीवन की अवधि बढ़ा सकता है।

Loading...

बीमारी की शुरुआत
जन्म से ही साथ आने वाला डैंडी-वॉकर सिंड्रोम दिमाग में विकृति पैदा कर देता है। यह मस्तिष्क के उस हिस्से को भी चपेट में लेता है, जो मूवमेंट यानी शरीर के संचालन की प्रक्रिया में सहयोग करता है। इस अवस्था में मस्तिष्क में तरल का भराव भी होने लगता है और सिस्ट भी पनपने लगती हैं।

Loading...

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap