सुबह ब्रह्म मुहूर्त में जगने के फायदे

आपने बड़े लोगों से यह सुना होगा कि सुबह जल्दी उठना चाहिए। हमारी संस्कृति में सुबह उठने का समय भी तय किया गया है जो है ब्रह्म मुहूर्त जो रात का अंतिम पहर होता है। ब्रह्म अर्थात देव और मुहूर्त मतलब समय। सीधी भाषा में बोला जाए तो सुबह 4 बजे से 5:30 बजे का समय। इस समय उठने से हमें बुद्धि , लक्ष्मी और चेहरे की चमक प्राप्त होती है। सुबह सुबह उठने से शरीर स्वस्थ और चुस्त रहता है । आप दिनभर स्फूर्ति का अनुभव करते हैं। यह सफलता की और आपको ले कर जाने में बहुत ही सहायक होता है। यह एक ऐसा उपाय है जिसमे सिर्फ फ़ायदा ही फ़ायदा होता है कोई नुकसान नही।

Loading...
Benefits of waking up in the brahma muhurta

ब्रह्म मुहूर्त में जागने का सबसे अच्छा प्रभाव आपके स्वास्थ्य पर पड़ता है । इसका कारण यह है कि सुबह 4 बजे से 5:३० बजे तक वायुमंडल में ऑक्सीजन कि मात्रा सर्वाधिक होती है और कार्बन डाईऑक्साइड कि मात्र बहुत ही कम होती है । हमारे शरीर को ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। शास्त्रों और आयुर्वेद की भाषा में ऑक्सीजन को प्राणवायु भी कहा जाता है क्यूंकि यह हमारे प्राणो के लिए बहुत ही ज़रूरी है। ब्रह्म मुहूर्त में उठकर आपको सर्वाधिक ऑक्सीजन मिलती है और आपका स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है। सूर्योदय के बाद ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है और कार्बन डाईऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाती है जिससे हमारे शरीर को भरपूर ऑक्सीजन नही मिल पाता।

ब्रह्म मुहूर्त और प्रकृति का आपस में बहुत ही गहरा सम्बन्ध है । ब्रह्म मुहूर्त में उठने से आपको प्रकृति की सुंदरता को देखने का भी मौका मिलता है। पक्षियों का मधुर कलरव मन को शान्ति पहुँचाता है और दिमाग की उलझनों को दूर करता है। साथ ही साथ खिले हुए फूलों को देखकर आँखों को ठंडक पहुचती है और मन में मधुरता आती है। आपके पास अपने कामों को करने का भी भरपूर समय होता है जिसके कारण आप अपने सभी काम समय से ख़त्म करते हैं और सफलता की सीढ़िया चढ़ते जाते हैं ।

Source: dailyayurvedatips

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap