सर्दियों का स्वाद सरसों का साग के फायदे

  • इस हरे पत्तीदार सब्जी में उच्च मात्रा में फाइबर होते हैं, जिस वजह से ये पाचन तंत्र को सही रखने में सहायक है। खनिज, विटामिन और प्रोटीन से भरपूर सरसों के पत्तो में कम मात्रा में कैलोरी होती है। इसलिए ये वजन घटाने वालों के लिए बेहतर है। Read Benefits of

    Loading...

    Benefits of Mustard Greens in Hindi

    • छोटे सरसों के बीजो से सोराइसिस, जो एक गंभीर इंफ्लेमेटरी ऑटोइम्यून डिसआर्डर है के विरूद्ध प्रभावी होते है। अनुसंधान अध्ययनों से पता चला है की सोराइसिस से जुड़ी सूजन और घाव को ठीक करने में इसके प्रभाव को मान्यता दी है।
    • शरीर का Detoxy System हृदय के स्वास्थ्य, कैंसर से बचाने और विभिन्न लम्बी बिमारियों और रोगों को रोकने में भी मदद करता है।
    • सरसों के बीज कॉन्टैक्ट डर्मटाइटिस में चिकित्सकीय मदद करते है।
    • सरसों के बीज में सुरक्षात्मक वमनकारी गुण होता है जो शरीर पर विष के प्रभाव को रोकते है।
    • सरसों के बीज का एंटी-बैक्टीरियल गुण दाद के कारण होने वाले घावों को ठीक करने में bhut अधिक प्रभावी हुआ है।
    • सरसों के तेल के साथ उबली हुई मेहंदी की पत्तियाँ बालों के स्वस्थ विकास को बढ़ाने में सहायक है।
    • तिल या नारियल तेल में भूने हुए सरसों के बीज परिणाम को बेहतर बनाकर यह मुंहासों के लिए प्रभावी उपचार बनाते है और साथ ही साफ रंगत को बढ़ाते है।
    • यह उतेजना को बढ़ाकर ठीक करने की प्रक्रिया को तेज करता है और तंत्रिकाओं पर स्फूर्तिदायक प्रभाव डालने में सक्षम है।
    • यह हड्डियों में या अन्य जगह मैग्नीशियम की कमी को दूर करके रजोनिवृत्त महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम करने में काफी मददगार है।

    जो से सोराइसिस, जो एक गंभीर इंफ्लेमेटरी ऑटोइम्यून डिसआर्डर है के विरूद्ध प्रभावी होते है। अनुसंधान अध्ययनों से पता चला है की सोराइसिस से जुड़ी सूजन और घाव को ठीक करने में इसके प्रभाव को मान्यता दी है।

  • शरीर का Detoxy System हृदय के स्वास्थ्य, कैंसर से बचाने और विभिन्न लम्बी बिमारियों और रोगों को रोकने में भी मदद करता है।
  • सरसों के बीज कॉन्टैक्ट डर्मटाइटिस में चिकित्सकीय मदद करते है।
  • सरसों के बीज में सुरक्षात्मक वमनकारी गुण होता है जो शरीर पर विष के प्रभाव को रोकते है।
  • सरसों के बीज का एंटी-बैक्टीरियल गुण दाद के कारण होने वाले घावों को ठीक करने में bhut अधिक प्रभावी हुआ है।
  • सरसों के तेल के साथ उबली हुई मेहंदी की पत्तियाँ बालों के स्वस्थ विकास को बढ़ाने में सहायक है।
  • तिल या नारियल तेल में भूने हुए सरसों के बीज परिणाम को बेहतर बनाकर यह मुंहासों के लिए प्रभावी उपचार बनाते है और साथ ही साफ रंगत को बढ़ाते है।
  • यह उतेजना को बढ़ाकर ठीक करने की प्रक्रिया को तेज करता है और तंत्रिकाओं पर स्फूर्तिदायक प्रभाव डालने में सक्षम है।
  • यह हड्डियों में या अन्य जगह मैग्नीशियम की कमी को दूर करके रजोनिवृत्त महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम करने में काफी मददगार है।

Source: healthindian

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!
Benefits of Mustard Greens in Hindi

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap