नाश्ते में दही खाने के आश्चर्यजनक फायदे

नियमित् रूप से नाश्ते में दही का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक शक्ति का विकास होता है और संक्रामक रोग नही होते। दही से हमारे शरीर को भरपूर कैल्शियम, प्रोटीन, जिंक, राइबोफ़्लेविन तथा विटामिन B-12 मिलता है, इसके नियमित सेवन से हमारे शरीर की रोगों से लडने की शक्ति बढती है।
आंवले के चूर्ण के साथ दही का सेवन करने से शरीर के सभी दोष दूर होते है।

आइए जानते है दही से सेहत को होने वाले फायदों के बारे में।अगर आप दही में थोडा सा गुड या आंवला पाउडर मिला कर खाए तो दही अमृत जैसा हो जाता है.

Loading...

अपच:

दही में भुना हुआ पिसा जीरा, नमक और कालीमिर्च डालकर रोजाना खाने से अपच (भोजन न पचना) ठीक हो जाता है और भोजन जल्दी पच जाता है।

आधासीसी का दर्द:

यदि सिर दर्द सूर्य के साथ बढ़ता और घटता है तो इस तरह के सिर दर्द को आधासीसी (आधे सिर का दर्द) कहते हैं। आधासीसी (आधे सिर का दर्द) का दर्द दही के साथ चावल खाने से ठीक हो जाता है। सुबह सूरज उगने के समय सिर दर्द शुरू होने से पहले रोजाना चावल में दही मिलाकर खाना चाहिए।

बच्चों का भोजन:

दही, मां के दूध के बाद बच्चे का सबसे अच्छा भोजन होता है। बुल्गोरिया में जिन बच्चों को मां का दूध उपलब्ध नहीं हो पाता है। उन बच्चों को खाने के लिए दही ही दिया जाता है।

वजन करे कम-

दही में मौजूद कैल्शियम शरीर पर फैट नहीं बढ़ने देता। शरीर पर बढ़ा हुआ फैट कई तरह की समस्याओं को साथ ले आता है जैसे उच्च रक्तचाप और मोटापा। एक शोध के मुताबिक हर रोज 5 चम्मच दही पेट कम करने में मदद करता है।

हाई न्यूट्रिशन-

विटामिन ए, डी, और बी-12 से युक्त दही में 100 ग्राम फैट और 98 ग्राम केलोरी है। लगभग सभी लवण दही में मौजूद होते हैं। दही में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है जो हडि्डयों को मजबूत करता है।

पाचन के लिए बेहतर-

किसी भी प्रकार के खाने को दही से हजम किया जा सकता है क्योंकि दही भोजन प्रणाली को दुरूस्त बनाए रखता है। हर रोज एक कटोरी दही आपको एसिडिटी से भी दूर रखेगा और जिन्हें यह परेशानी रहती है उन्हें अपने खाने में दही जरूर शामिल करना चाहिए। दही से पेट की बहुत सारी परेशानियों को दूर किया जा सकता है।

बालों का झड़ना:
खट्टे दही को बालों की जड़ों में लगाकर थोड़ी देर मालिश करने के बाद उसे ठण्डे पानी से धो लें। इससे बाल झड़ना बंद हो जाते हैं।

गंजेपन का रोग:

दही को तांबे के बर्तन से ही इतनी देर रगडे़ कि वह हरा हो जाए। इसको सिर में लगाने से सिर की गंजेपन की जगह बाल उगना शुरू हो जाते हैं।

अफारा (पेट में गैस का बनना):

दही की छाछ (दही का खट्टा पानी) को पीने से अफारा (पेट की गैस) में लाभ होता है।

रतौंधी:

दही के पानी में कालीमिर्च को पीसकर आंखों में काजल की तरह लगाने से रतौंधी के रोग में आराम आता है।

Source: healthfitnesstrick

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Next post:

Previous post:

0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap