. तो इसलिए हेल्दी फूड सबके लिए हेल्दी नहीं होते

2 of 3
आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Loading...

Sharing is caring!

ऐसा क्यों है?

इसका कारण बताते हुए डॉ. शर्मा कहती हैं कि आयुर्वेद के मुताबिक, दूध में कफ ज्यादा होता है. ऐसे में जो वात या पित्त प्रकृति के लोग हैं उनके लिए दूध तो बहुत हेल्दी है. लेकिन कफ प्रकृति वाले लोगों के लिए दूध बहुत हानिकारक है.

इसी तरह से सलाद कफ और पित्त प्रकृति वालों के लिए बहुत हेल्दी है. दरअसल, कफ प्रकृति वाले लोगों को डायजेशन इंप्रूव करने के लिए रॉ फाइबर चाहिए होता है. वहीं पित्त प्रकृति वालों में एसिड बहुत होता है और सलाद बहुत एलक्‍लाइन (alkaline) होता है. यानि कफ और पित्‍त दोनों तरह की प्रकृति वालों का डायजेशन सलाद खाने से बेहतर करता है. लेकिन वात प्रकृति वाले लोगों के लिए ये हार्मफुल है क्योंकि सलाद में वात एलिमेंट बहुत ज्यादा होता है. यानि सलाद बहुत ड्राई और लाइट होता है. वात प्रकृति वाले लोग यदि सलाद खाएंगे तो उनको इन्डायजेशन हो सकता है.

इन वजहों से हर व्यक्ति की डायट होती है अलग-

  • बॉडी का नेचर- वात, पित्त और कफ किस व्यक्ति का क्या बॉडी नेचर है उसी हिसाब से डायट तय होती है.

Loading...

Spread the love
  •  
  • 91
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
2 of 3
आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Next post:

Previous post:

x
Please "like" us: