सावधान! कही आप अपने 1 साल के बच्चे को नमक या चीनी तो नहीं खिलाते

आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Loading...

Sharing is caring!

सावधान! कही आप अपने 1 साल के बच्चे को नमक या चीनी तो नहीं खिलाते - India TV

जब आपके घर में कोई बच्चा होता है तो उसका ख्याल अधिक रखा जाता है जिससे कोई उसे कोई समस्या न हो। जिसके लइे उसके खानपान में भी पूरी नजर रखी जाती है। उसे खाने के लिए कोई ऐसी चीज नहीं दी जाती है जिससे कि वो बीमार है। जब आपका बच्चा 6 महीने का हो जाता है तो उसे दूध के अलावा ऐसा क्या दें जो उसके लिए सेहतमंद है। इसके लिए मां सबसे ज्यादा परेशान होती है कि उसे क्या खिलाएं और क्या न खिलाएं।

आमतौर में घरों पर देखा जाता है कि घर में मौजूद लोग खाने की चीजें देने से मना करते है, लेकिन बच्चे के मुंह का स्वाद बदलने के लिए उसे खाने में नमक और फलों में चीनी आदि मिला देता है। लेकिन आप जानते है कि 1 साल तक के बच्चे के लिए चीनी और शुगर का सेवन करना कितना खतरनाक है। जानिए आखिर 1 साल तक के बच्चे को चीनी और नमक क्यों नहीं देना चाहिए?

शुगर
चीनी में प्रोसेस्ड और केमिकल अधिक मात्रा में पाया जाता है जो कि एक बच्चे के लिए काफी हानिकारक है। अगर आप अलग से उसे शुगर या शुगर से बनी चीजें खिला रहे हैं तो इससे उसके दांतों पर बुरा असर पड़ सकता हैं और दांतों की सड़न जैसी बीमारी भी हो सकती है।

अधिक चीनी के सेवन से उसके शरीर में अधिक मात्रा में कैलोरी बनेगी जिससे कि वह मोटापा का शिकार हो सकता है। साथ ही उसके किडनी के लिए भी हानिकारक होगी। इसलिए बच्चे को चीनी देने से बचें।

नमक  
नमक आपके बच्चे के लिए बहुत ही खतरनाक होता है, क्य़ोंकि अगर आपने बच्चे को अधिक नमक खिला दिया तो इसके शरीर में सोडियम की मात्रा अधिक हो जाएगी। जिससे उसके किडनी में प्रेशर पडेगा। जोकि उसकी सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

छोटी उम्र में ज्यादा नमक खिला देने से बड़े होने पर इन लोगों में किडनी ख़राब होने और हाइपरटेंशन की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। इसलिए बच्चों को नमक अधिक न खिलाएं। एक दिन में बच्चे को केवल 1 ग्राम नमक की जरुरत होती है जो उसे फलों और सब्जियों में आराम से मिल जाती है।

Source: khabarindiatv

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Next post:

Previous post:

x
Please "like" us: