थोड़ा सा **नमक** एक **कपडे** में डालकर चुपचाप रखे यहां – अगली सुबह देखे अद्भुत चमत्कार

आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें
loading...

Loading...

Sharing is caring!

namak-cure-make-moneyअब तक तो आपने सिर्फ खाने में ही मनक का इस्तेमाल किया है, मगर क्या आपको पता है कि यह किचन में मिलने वाला नमक आपको धनवान भी बना सकता है। हो सकता है आपको ये अंधविश्वास की बात लगें, लेकिन ज्योतिष और वास्तु शास्त्र में घर की सुख-समद्धि व अन्य कई समस्याओं के लिए नमक से जुड़े ये उपाय बताए गए हैं-

नकारात्मक ऊर्जा करे दूर
सप्ताह में एक बार गुरुवार को छोड़कर पोंछा लगाते समय पानी में थोड़ा साबुत खड़ा नमक (समुद्री नमक) मिला लेना चाहिए। इस उपाय से घर की नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है।

धन प्राप्ति के लिए
नमक को कांच के पात्र में रखें और उसमें चार-पांच लौंग डाल दें। इससे घर में धन आना शुरू हो जाता है साथ ही बरकत भी बनी रहती है।

बाथरूम और टॉयलेट को करे दोष मुक्त
एक कांच की कटोरी में खड़ा नमक (समुद्री नमक) भरें और इस कटोरी को बाथरूम में रखें। इस उपाय से भी नकारात्मक ऊर्जा दूर हो सकती। टॉयलेट में कांच के बाऊल में क्रिस्टल साल्ट (दरदरा नमक) भर कर रखें, 15 दिन बाद बदल दें।

वास्तुदोष करे दूर
मिला-जुला वास्तुदोष हो तो जिसे आप बदल नहीं सकते। इसके लिए आप साबुत नमक भर कर कुछ देर रखे रहें, फिर वॉशबेसिन में डालकर पानी से बहा दें। नमक इधर-उधर न फेंके। इससे वास्तुदोष दूर होता है।

नजर उतारने के लिए
यदि आपको या किसी बच्चे को किसी की नजर लग गई है तो सात बार एक चुटकी नमक उस पर से उतारकर उसे बहते पानी में बहा दें। नल खोलें और उसे नल के बहते पानी में डाल दें। इससे नजर दोष दूर हो जाएगा।

शनि का दुष्प्रभाव करे कम
यदि भोजन करते समय आपको दाल या सब्जी आदि में नमक कम लगे तो उपर से नमक न डालें। ऐसे में काला नमक तथा मिर्च कम होने पर काली मिर्च का प्रयोग करें। यदि आप ऐसे नहीं करेंगे तो इससे शनि का दुष्प्रभाव शुरू हो जाएगा।

रोग से मुक्ति हेतु
सोते समय अपना सिरहाना पूर्व की ओर रखें। अपने सोने के कमरे में एक कटोरी में सेंधा नमक के कुछ टुकडे रखें। इससे आपकी सेहत ठीक रहेगी।

Source

Please Share! Sharing is Caring!

Loading...
loading...

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Next post:

Previous post:

x
Please "like" us: