गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित भोजन

2 of 3
आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Loading...

Sharing is caring!

जब भी किसी खाने-पीने की सुरक्षा पर सवाल खड़ा हो तो उसे फेंकने में ही भलाई है। खाने से पहले पैकेट पर दिए लेबल पढ़ना न भूलें।

  1. जो मीट, अंडे या फिश फ्रिज में रखें हों या बर्फ पर न पड़े हों, उन्हें कभी न खरीदें। डिब्बे खोलने से पहले धोएं और अपना केन ओपनर भी समय-समय पर गर्म पानी से धोएं।
  2. खाने से पहले, मीट अंडे व मांस छूने के बाद अपने हाथ धोएं। हाथ में कट हो तो खाना पकाने से पहले दस्ताना पहनें। समय-समय पर दस्ताने भी धोएं।
  3. किचन का काउंटर व सिंक साफ रखें। बर्तन धोने का स्पंज व कपड़ा साफ रखें व समय-समय पर बदलें।
  4. ठंडा खाना ठंडा व गर्म खाना गर्म ही परोसें। बचा खाना उसी समय फ्रिज में लगाएं और भाप में गर्म करने के बाद ही खांए। फ्रिज में रखा सामान यदि पिघल गया हो तो दोबारा फ्रीज़ करके न खाएं।
  5. फ्रिज के तापमान की समय-समय पर जांच करें। फ्रिज का तापमान 0 डिग्री पर होना चाहिए। अगर आपका फ्रिजर ऐसा नहीं है तो भी कोई बात नहीं।
  6. फ्रिज में रखे जाने वालों भोजन को कमरे के तापमान पर न गलाएं। अगर आप जल्दी में हैं तो उसे ठंडे पानी में गलाकर इस्तेमाल करें।
  7. मीट, फिश या पोल्ट्री को काउंटर की बजाय फ्रिज में मैरीनेट करें। बाद में मैरीनेट हटा दें क्योंकि इसमें जहरीले पदार्थ हो सकते हैं। अगर आप मैरीनेट को डिप की तरह इस्तेमाल करना चाहें तो कुछ हिस्सा पहले ही निकाल कर रखें। 

Loading...

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
2 of 3
आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Next post:

Previous post:

x
Please "like" us: