मुख की दुर्गन्ध ही नहीं मुख कैंसर से भी बचाती है ‘ग्रीन टी’

आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Loading...

Sharing is caring!

मुख की दुर्गन्ध ही नहीं मुख कैंसर से भी बचाती है 'ग्रीन टी'
इजराइल प्रोद्योगिकी संस्थान के एक ताजातरीन शोध के अनुसार ‘ग्रीन-टी’ न सिर्फ दुर्गन्ध मय सांस (मुख निश्वास से पैदा दुर्गन्ध) से बचाती है, मुख कैंसर से भी बचाव कर सकती है. यह कमाल है इसमें मौजूद उन जादुई पोलिफिनोल्स (एंटीओक्सिडेंट) का जो मुख में ऐसे कई यौगिकों का खात्मा कर देतें हैं जो दुर्गन्ध की वजह बनतें हैं. दंत क्षय और ओरल कैंसर की वजह भी यही यौगिक बनते हैं. इसीलिए इसे अब कुदरती सुपर फ़ूड माना जाने लगा है. कुदरत का ऐसा तोहफा जो न सिर्फ हृदय रोगों और कैंसर रोग समूह से बचाए रह सकता है, खून से चर्बी भी निकाल बाहर करता है. पार्किन्संस एवं लाइलाज बने एल्जाईमार्स रोग को भी मुल्तवी रख सकता है.
ताज़ा शोध में रिसर्चरों ने एक ख़ास फिनोल ईजीसीजी (EPI GALLO ATECHIN 3 GALLATE, संक्षिप्‍त रूप EGCG) की पड़ताल की है. यही इस हरी-चाय का प्रमुख घटक है. मुख स्वास्थ्य को बनाए रखने में अब ग्रीन टी की ओर अधिकाधिक ध्यान गया है. हालाकि हरी चाय और साधारण चाय का पौधा एक ही है लेकिन दोनों के संश्लेषण का, संशाधन का तरिका जुदा है. इसमें केफीन की मात्रा कमतर रह जाती है. केफीन शून्य भी इसे बनाया जा सकता है. अलग स्वादों में भी. लेकिन डेरा रहता है इसमें पोलिफिनोल्स का.
चीन, धुर पूरब में यह हज़ारों सालों से चलन में है. अब ब्रितानी लोग भी इसके दीवाना होने लगे हैं, अमरीकी भी. भारतीय भी जो खुद से प्यार करतें हैं. इसका केलोरी भार भी कम रहता है क्योंकि यह बिना दूध बिना शक्कर के ही पी जाती है. उल्लेखित अध्ययन आर्काइव्ज़ ऑफ़ ओरल बायलोजी में प्रकाशित हुआ है.
नुश्खे सेहत के:
कील मुंहासों से छुटकारे के लिए नारियल के तेल में ताज़ा मीठा नींबू (Lime juice) निचोड़ के मिलाये. चेहरे पर हलके हलके लगाएं. जहां जहां मुंहासे हैं वहां वहां. ड्राईनेस इन दी आईज?
बार-बार पलकें झपकाते रहिये (कुछ लोगों को घूरने घूरते रहने की आदत होती है, अच्छी नहीं है यह आदत, सौन्दर्य बोध भी नष्ट होता है, एशियाइयों का ख़ास शगल है यह) बारहा पलकें झपकाते रहिये. आँखों का सूखापन कम होगा
कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Next post:

Previous post:

x
Please "like" us: