30 के बाद प्रैंग्नेंसी नहीं होती आसान!

आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Loading...

Sharing is caring!

30 के बाद प्रैंग्नेंसी नहीं होती आसान!

परिवर्तन के इस दौर में बहुत सी चीज़े काफी तेज़ी से बदल रहीं हैं और इसी के साथ ही हमारी सोच और प्राथमिकताएं भी बदल रही हैं। यही कारण है कि पहले जहां लड़किया अपने घर-परिवार और शादी और बच्चों को प्राथमिकता देती थी वो आज अपने करियर को लेकर काफी सजग हो गई हैं। आज बहुत सी महिलाएं ऐसी हैं जो 30 के बाद मां बनना पसंद कर रही हैं लेकिन इस दौरान काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं।

इस बारे में डॉ प्रीती गुप्ता फर्टिलिटी एंड आईवीएफ एक्सपर्ट (फर्स्ट स्टेप आईवीएफ क्लिनिक ) का कहना है कि आज महिलाएं अपने करियर को लेकर काफी सजग हो गई हैं और ये भी सच है कि 30 साल की उम्र के बाद रिप्रोड्यूस करने में मुश्किल होती है। हमारे सेंटर में आने वाले अधिकतर मामलों में देखा गया है कि 30 साल के बाद एक औरत में एन्डोमेट्रीओसिस की समस्या देखने को मिलती है। आज 100 में से 15 महिलाएं ऐसी हैं जिनके डिम्बग्रंथि भंडार में तेजी से गिरावट आई है। इसी कारण से अण्डों को सुरक्षित रखने का प्रचलन तेज़ी से बढ़ने लगा है। इसके साथ ही कृत्रिम विधि द्वारा गर्भधारण (आईवीएफ )भी तेजी से प्रचलन में आ रहा है।

Loading...

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Next post:

Previous post:

x
Please "like" us: