प्रेग्नेंसी में पीठ के बल सोना हो सकता है खतरनाक

आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Loading...

Sharing is caring!

प्रेग्नेंसी में एक ओर जहां खाने-पीने का खास ख्याल रखना होता है वहीं सोने, उठने और बैठने का भी पूरा ध्यान रखना होता है. एक छोटी सी लापरवाही भी मां और बच्चे के लिए खतरनाक साबित हो सकती है.

प्रेग्नेंसी के शुरुआती दिनों में अगर आप पीठ के बल सोती हैं तो चिंता की कोई बात नहीं है लेकिन जैसे-जैसे महीने बीतते जाते हैं वैसे-वैसे शरीर का अगला हिस्सा भारी होने लग जाता है. गर्भ बढ़ने के साथ ही पीठ पर भी बल पड़ने लगता है. जब गर्भवती महिला पीठ के बल लेटती है तो गर्भाशय का पूरा भार शरीर के दूसरे अंगों पर पड़ता है. इससे ब्लड सर्कुलेशन भी बिगड़ सकता है.

इसके साथ ही जब कोई गर्भवती ज्यादा समय के लिए पीठ के बल सोती है तो दिल और फेफड़ों पर भी इसका असर पड़ता है. जिससे इन जरूरी अंगों पर दबाव बढ़ जाता है. इससे ऑक्सीजन का बैलेंस बिगड़ जाता है. इसके अलावा रीढ़ की हड्डी पर दबाव पड़ने से बैक-पेन की शिकायत भी हो जाती है, जिसकी वजह से नींद खराब होती है.

Loading...

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
आगे पढने के लिए next बटन पर क्लिक करें

Next post:

Previous post:

x
Please "like" us: