Loading...

दो दाने काली मिर्च

काली मिर्च एक बहुत ही विशेष आयुर्वेदिक औषधि है । घर की रसोई में प्रमुख मसाले में प्रयोग होने के अलावा यह आयुर्वेदिक दवाओं में भी बहुत प्रमुखता से प्रयोग होती है । आयुर्वेदिक औषधि त्रिकटु चूर्ण की तो इसके बिना कल्पना भी नही की जा सकती है । आकार में बहुत छोटी काली मिर्च को यदि आयुर्वेदिक ज्ञान का अनमोल काला मोती कहा जाये तो अतिश्योक्ति नही होगी । इस लेख में हम आपको बतायेंगे कि यदि आप रोज सुबह खाली पेट सिर्फ दो दाने काली मिर्च का सेवन करने लगें तो आपको कौन कौन से प्रमुख पाँच स्वास्थय लाभ प्राप्त होते हैं । लेख बहुत ही रोचक बन पड़ा है जरूर पढ़ियेगा ।

दो दाने काली मिर्च ठीक करते हैं मेटाबॉलिज्म को :-

काली मिर्च में पाचक अग्नि को नियन्त्रित करने की अदभुत शक्ति होती है और यह पाचन प्रक्रिया को सुचारू करके शरीर के चय और उपचय अर्थात मेटाबॉलिज्म को सही करती है जिस कारण से शरीर में कोई मेटाबॉलिक विकार उत्पन्न नही होते हैं । मेटाबोलिज्म खराब होने का सबसे प्रमुख लक्षण दिखाई देता है शरीर पर चढ़ने वाले मोटापे के रूप में और काली मिर्च के दो दाने रोज सुबह खाये जायें तो शरीर पर अतिरिक्त चर्बी जमने के अभिशाप से बचा जा सकता है ।

दो-दाने-काली-मिर्च

दो दाने काली मिर्च सेवन से लाभ होता है गैस की समस्या में :-

काली मिर्च की प्रकृति उष्ण होती है और उष्ण प्रकृति की चीजें वायु का शमन करती हैं । पेट में बनने वाली गैस वायु दोष का ही एक उपद्रव है । काली मिर्च का प्रयोग गैस के रोग को शान्त करने के लिये बहुत सी आयुर्वेदिक दवाओं में लाभ करता है । अतः अगर दो दाने काली मिर्च का सेवन रोज सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ किया जाये तो यह गैस के पुराने रोग में भी बहुत अच्छा लाभ करते हैं, एक बार इसको जरूर आजमायें ।

दो दाने काली मिर्च लाभ करते हैं जोड़ों के दर्द में :-

जोड़ों का दर्द होने के दो प्रमुख कारण हैं पहला तो वात का प्रकोप और दूसरा यूरिक एसिड की अधिकता जिसको गठिया बाय भी बोलते हैं । इन दोनों ही दशाओं में काली मिर्च के ये दो दाने बहुत अच्छा लाभ देते हैं । आयुर्वेद बताता है कि शरीर में जहॉ भी शूल (दर्द) होगा वहॉ पर वात दोष जरूर मौजूद रहेगा । काली मिर्च वात दोष को शमन करती है जिस कारण से वायु के दर्द को यह कम करती है । यूरिक एसिड बढ़ जाने के कारण होने वाले गठिया के दर्द में यह यूरिक एसिड को नष्ट करती है जिस कारण से इस दर्द में भी लाभ मिलता है ।

दो दाने काली मिर्च लाभ करते हैं वायरल बुखार में :-

काली मिर्च में पिपरीन नामक तत्व पाया जाता है जो कि एक बहुत अच्छा कीटाणुनाशक तत्व होता है । यह मलेरिया और अन्य वायरल बुखारों में बहुत अच्छा प्रभाव दिखाता है । यह विषाणुओं को खत्म करने में बहुत प्रभावी सिद्ध होता है । काली मिर्च के दो दानों को तुलसी के पाँच पत्तों के साथ सेवन करने सए सभी तरह की वायरल बीमारियों में बहुत अच्छा लाभ दिखता है क्योंकि ये दोनों ही वायरल नाशक होते हैं और एक दूसरे का साथ मिलने से काली मिर्च और तुलसी दोनों के ही वायरल नाशक गुण कई गुना ज्यादा बढ़ जाते हैं ।

दो दाने काली मिर्च लाभकारी हैं स्किन एलर्जी में :-

बहुत से लोगों में कफ और वायु दोष बढ़ जाने के कारण स्किन पर एलर्जी होने लगती है और कई बार चकते पड़ने लगते हैं । इस दशा में दो दाने काली मिर्च के बहुत अच्छा लाभ करते हैं । यदि इनके साथ आधा चम्मच हल्दी पाउडर का भी सेवन किया जाये तो यह और भी ज्यादा लाभकारी हो जाता है क्योंकि हल्दी में पाया जाने वाला कुरक्यूमिन नामक तत्व पिपरिन का बहुत अच्छा सहयोगी होता है । अगर एलर्जी पित्त दोष के बढ़ने के कारण होती है तो उसमें यह उतना अच्छा प्रभाव नही दिखा पाता है क्योंकि इसकी स्वयं की प्रकृति गर्म होती है ।

दो दाने काली मिर्च सेवन में सावधानी :-

काली मिर्च को सुबह खाली पेट खाना उन लोगों को माफिक नही पड़ता है जिनको पेट में अल्सर हो या जिनको बहुत ज्यादा पित्त की प्रकृति हो । ऐसे लोगों को सलाह है कि वो काली मिर्च का सेवन अपने आयुर्वेदिक चिकित्सक के परामर्श के बाद ही करें । बहुत ही कम केस में देखने में आता है कि काली मिर्च के सेवन से ब्लड प्रेशर बढ़ने की शिकायत होने लगती है इसलिये यदि आपको भी ब्लड प्रेशर ज्यादा होने की शिकायत रहती है तो इसको चिकित्सक की देखरेख में ही सेवन किया जाना चाहिये ।
दो दाने काली मिर्च के सेवन से मिलने वाले लाभों की जानकारी वाला यह लेख आपको अच्छा और लाभकारी लगा हो तो कृपया लाईक और शेयर जरूर कीजियेगा । आपके एक शेयर से ही किसी जरूरतमंद तक सही जानकारी पहुँचती है और हमको भी आपके लिये और बेहतर लेख लिखने की प्रेरणा मिलती है । इस लेख के समबन्ध में आपके कुछ सुझाव हों तो कृपया कमेण्ट के माध्यम से हमको जरूर सूचित करें ।

Source

Loading...

Previous Posts